उपार्जन केंद्र में रखा धान का उठाव अति शीघ्र करने एवं खरीफ विपणन वर्ष 2023-24 के अंतर्गत प्रोत्साहन राशि  शीघ्र दिलाने बाबत कर्मचारियों ने सोपा ज्ञापन.. 💥💥एक सप्ताह के अंदर समस्या का समाधान नही होने पर जिला विपणन कार्यालय के सामने धरना प्रदर्शन …..

💥उपार्जन केंद्र में रखा धान का उठाव अति शीघ्र करने एवं खरीफ विपणन वर्ष 2023-24 के अंतर्गत प्रोत्साहन राशि  शीघ्र दिलाने बाबत कर्मचारियों ने सोपा ज्ञापन..

💥💥एक सप्ताह के अंदर समस्या का समाधान नही होने पर जिला विपणन कार्यालय के सामने धरना प्रदर्शन …..

सकती । शासन द्वारा खरीफ विपणन वर्ष 2023-2024 अंतर्गत किसानों का धान समर्थन मूल्य पर   जोर-शोर से खरीदा  गया जिसकी अंतिम तिथि 4 फरवरी तक  निर्धारित  थी । लेकिन अब अंतिम तिथि के बाद भी उपार्जन केन्द्रो में रखा धान का उठाव समय पर नहीं होने से केंद्र प्रभारियों की चिंता बढ़ गई है, वही इन दिनों पड रही तेज धूप के कारण धान में सुखत की मात्रा बढ़ रही है साथ ही दीमक तथा चूहे भी धान की बोरियों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। लगातार हो रहे नुकसान से   प्रभारियो की चिंता बढ़ गई है साथ ही उन्हें प्रोत्साहन राशि भी अब तक नहीं मिल पाई है। इन्हीं सब बातों को लेकर जिले के प्रायः प्रायः सभी धान प्रभारियो ने जिला विपणन अधिकारी को 6 फरवरी मंगलवार को ज्ञापन  देकर समस्या दूर करने की अपील की है ।
                  खरीफ विपणन वर्ष 2023- 24 में धान खरीदी का कार्य पूर्ण हो चुका है। सकती जिले अंतर्गत कुल 125 उपार्जन केंद्रों में लगभग 517475.64 टन धान खरीदी हुई है जिसमें अभी भी उपार्जन केंद्रों में लगभग दो लाख टन धान जाम है। जिले के अधिकांश उपार्जन केंद्रों में धान उठाव हेतु 09.01.2024 के बाद कोई डीओ जारी नहीं हुआ है एवं जिन केन्द्रों में एक माह पूर्व  डीओ जारी हुआ है उनका धान का उठाव मिलर द्वारा नहीं किया गया है। खरीदी केंद्रों में चूहों एवं दीमकों में धान एवं धान भरे वारदाने को नुकसान किया जा रहा है। जबकि धान खरीदी के 72 घंटो के अंदर धान उठाव करने का प्रावधान है। ऐसे में अगर शीघ्र धान का उठाव नहीं कराया जाता तो धान में सुखत आना निश्चित है। जिससे जिले में 0% शार्टेज का लक्ष्य हासिल करना मुश्किल है। अतः धान उठाव शीघ्र कराया जावे, अन्यथा किमी भी प्रकार की क्षति व कमी के लिए प्रभारियों व समिति कर्मचारियों को जिम्मेदार ना माना जावे। साथ  ही खरीफ विपणन वर्ष 2022-23 की धान खरीदी की धान खरीदी की प्रोत्साहन राशि अभी तक समितियां को अप्राप्त है जिसे शीघ्र समिति खाते में समायोजन किया जावे। उक्त दोनों मांगो को एक सप्ताह के भीतर पूर्ण किया जावे। मांगे पूर्ण नहीं होने की स्थिति में सभी समिति कर्मचारी एवं धान खरीदी के समस्त कर्मचारी अवकाश लेकर दिनांक 13.02.2024 को एक दिवसीय जिला विपणन कार्यालय के सामने धरना प्रदर्शन करेंगे। जिसकी सम्पूर्ण जवाबदारी शासन प्रशासन की होगी।

————————————————————————–

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button