Uncategorized

होम वोटिंग के माध्यम से घर पर मतदान कर 85 वर्षीय श्री राम नारायण शर्मा लोकतंत्र के महापर्व में हुए शामिल… *✅️दिव्यांग श्री मालिक राम तिर्की ने अपने घर पर ही किया अपने मताधिकार का उपयोग… *✅️जिले के ग्राम रानीगांव निवासी 86 वर्षीय श्रीमती मंजूर बाई साहू ने भी घर पर अपने मताधिकार का किया उपयोग…

*होम वोटिंग के माध्यम से घर पर मतदान कर 85 वर्षीय श्री राम नारायण शर्मा लोकतंत्र के महापर्व में हुए शामिल…

*✅️दिव्यांग श्री मालिक राम तिर्की ने अपने घर पर ही किया अपने मताधिकार का उपयोग…

*✅️जिले के ग्राम रानीगांव निवासी 86 वर्षीय श्रीमती मंजूर बाई साहू ने भी घर पर अपने मताधिकार का किया उपयोग…

*✅️मतदाताओं ने कहा मतदान कर निभा रहे देश के लिए महत्वपूर्ण जिम्मेदारी…

*✅️मतदान अधिकारियों को अपने घर में देखकर मतदाताओं सहित परिजनों ने जाहिर की खुशी…

सक्ती l भारत निर्वाचन आयोग के उद्देश्यों को परिलक्षित करते हुए मतदान अधिकारियों द्वारा जिले के चिन्हांकित दिव्यांगजनों और 85+ बुजुर्ग व्यक्तियों के घरों में जाकर मतदान कराया जा रहा है। अत्यंत दिव्यांगता और अधिक उम्रदराज से लोकतंत्र में हिस्सा बनने से वंचित न हो, इसके लिए भारत निर्वाचन आयोग द्वारा होम वोटिंग की सुविधा उपलब्ध कराई है। जिले के उम्रदराज और दिव्यांगजन नागरिक भी होम वोटिंग कर लोकतंत्र में अपनी सहभागिता सुनिश्चित कर रहे है। होम वोटिंग के लिए नियुक्त मतदान अधिकारियों ने मतदान कराने जिले के ग्राम नया बाराद्वार, बस्ती बाराद्वार, व रानीगाँव सहित अन्य विभिन्न गाँव में आज जाकर दिव्यांग एवं बुजुर्ग मतदाताओं के घरों में दस्तक दी। मतदान अधिकारियों को अपने घर में देखकर मतदाताओं सहित परिजनों ने खुशी जाहिर की। मतदाताओं ने कहा यह बहुत अच्छा क्षण है जिससे हम अपने देश के लिए महत्वपूर्ण जिम्मेदारी निभा रहे हैं।
नया बाराद्वार वार्ड नंबर 01 निवासी 85 वर्षीय श्री राम नारायण शर्मा ने होम वोटिंग के माध्यम से अपना मताधिकार का उपयोग किया। श्री राम नारायण शर्मा की बेटी श्रीमती जानकी बाई ने कहा कि यह बहुत खुशी का समय है कि लोकतंत्र के महापर्व में उनके पिताजी हमेशा की तरह शामिल हो रहे है। मतदान अधिकारियों द्वारा होम वोटिंग के माध्यम से घर पर ही मतदान कराया जा रहा है। उनके पिता पहले स्वयं मतदान बूथ में जाकर वोट देते थे। लेकिन उम्र की अधिकता और लकवाग्रस्त होने के कारण पिछले 2 महीने से बिस्तर पर है। जिसके कारण कही चल-फिर नहीं पा रहे है। पिछले निर्वाचन में मतदान केंद्र जाकर मतदान किए थे। श्री शर्मा की बेटी ने कहा कि भारत निर्वाचन अयोग की इस अच्छी पहल के कारण उम्रदराज और दिव्यांग मतदाता अपने मताधिकार से वंचित होने से बच रहे हैं। उनके लिए यह सुविधा बहुत लाभकारी है। बिना परेशानी के वे घर पर ही वोट दे रहे हैं। जिससे वे लोकतंत्र में अपनी जिम्मेदारी अच्छे से निभा पा रहे हैं। उन्होंने भारत निर्वाचन आयोग और मतदान अधिकारियों का हृदय से धन्यवाद ज्ञापित किया।
जिले के ग्राम रानीगांव निवासी 86 वर्षीय श्रीमती मंजूर बाई साहू ने घर पर लोकसभा निर्वाचन 2024 के लिए अपने मताधिकार का उपयोग किया। श्रीमती मंजूर बाई अत्यंत बुजुर्ग हैं। उनको चलने फिरने में बहुत समस्या होती हैं। श्रीमती मंजूर बाई की नाती श्री कमल किशोर साहू ने मतदान करने के लिए उनका सहयोग किया। श्री कमल किशोर ने बताया कि पहले मतदान केन्द्र तक मतदान कराने के लिए ले जाया जाता था। लेकिन पिछले विधानसभा निर्वाचन में बीएलओ द्वारा होम वोटिंग की सूचना देने पर माताजी को चिन्हांकित किया गया। पिछले विधानसभा निर्वाचन में भी होम वोटिंग के माध्यम से मतदान की थी और इस बार लोकसभा निर्वाचन में भी घर में मतदान करने का अवसर मिला है। उन्होंने होम वोटिंग सुविधा की सराहना की है।

#

#

#

#

#

#

#

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button