छत्तीसगढ़धार्मिक आयोजनशक्ति

श्रीमद् भागवत सप्ताह ज्ञान यज्ञ का हो रहा है आयोजन… 💥महाविद्यालय की प्राचार्य डॉक्टर श्रीमती शालू पाहवा के निवास में हो रहा है धार्मिक आयोजन..

श्रीमद् भागवत सप्ताह ज्ञान यज्ञ का हो रहा है आयोजन…

💥महाविद्यालय की प्राचार्य डॉक्टर श्रीमती शालू पाहवा के निवास में हो रहा है धार्मिक आयोजन..

सकती । शहर के  प्रतिष्ठित पाहवा  परिवार द्वारा इन दोनों श्रीमद् भागवत सप्ताह ज्ञान यज्ञ का  धार्मिक आयोजन विगत 9 मार्च से 16 मार्च तक करवाया जा रहा है , व्यास पीठ पर शक्ति निवासी पंडित श्री संजय पांडेय द्वारा अपने मुखारविंद  से श्रद्धालुओं को कथा का रसपान करवा रहे है , कथा के बीच-बीच में  श्रीराधे रानी ,श्रीकृष्ण के  भजनो की मधुर संगीतमय प्रस्तुति भी दे रहे हैं। आयोजित धार्मिक आयोजन में विगत 9 मार्च को प्रथम दिवस मे  कलश यात्रा, कथा महात्म्य का वर्णन किया गया इसी प्रकार 10 मार्च को सुकदेव आगमन एवं हिरण्याक्ष वध, 11 मार्च सोमवार को कपिलोपाख्यान ध्रुव प्रहलाद चरित्र 12 मार्च मंगलवार को वामन अवतार , श्री  कृष्ण अवतार ,श्रीराम अवतार 13 मार्च को बाल लीला गोवर्धन पूजा, छप्पन भोग भगवान को श्रद्धापूर्वक भक्ति भाव से लगाया गया  महाराज जी ने इन सभी का चित्रण विस्तार से बड़े सुंदर ढंग से सुनाया है ।  आज 14  मार्च गुरुवार को महारास ,रुक्मणी विवाह, कंस वध उद्धव प्रसंग का वर्णन किया है महाराज जी ने व्यास पीठ से बताया की भगवान जब भी अपनी बांसुरी को बजाते थे तब सभी गोपिया सब काम को छोड़कर दौड़ी दौड़ी आ जाती थी और सभी कार्य छोड़ कर भगवान की बंसी सुनने में मग्न हो जाती थी भगवान ने सभी गोपियों के साथ महारास किया है इसी प्रकार महाराज जी ने कंस वध और उद्धव प्रसंग के चरित्र को सुंदर ढंग से सुनाया  कथा में आगे रुक्मणी विवाह का वर्णन करते हुए बताया कि जब रूकमणि जी गौरी पूजा करने मंदिर गई तब भगवान रुक्मणी को हरण करके ले गए और द्वारका में भगवान का सुंदर विवाह संपन्न हुआ । में इसी प्रकार 15 मार्च को सुदामा चरित्र परीक्षित मोक्ष और कथा विश्राम होगी। 16 मार्च शनिवार को पूर्णाहुति कपिलावर्णन, सहस्त्र धारा,तुलसी वर्षा  ,ब्राह्मण भोजन, भंडारा प्रसाद का आयोजन रखा गया है । कथा में प्रतिदिन कथा समापन पर आरती एवं प्रसाद वितरण किया जा रहा है कथा का समय दोपहर 3 बजे से श्रीराधे इच्छा तक रखा गया है कथा स्थल जवाहरलाल नेहरू महाविद्यालय की प्राचार्य डॉक्टर श्रीमती शालू पाहवा के निवास में आयोजित हो रही है। धार्मिक आयोजन को सफल बनाने में डॉक्टर श्रीमती शालू पाहवा श्रीमती काजल अंकुश पाहवा ,आरणा, अनय, एवं समस्त पाहवा परिवार शक्ति एवं रायगढ़ का सराहनीय योगदान है ।
#

#

#

#

#

#

#

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button