क्राइमछत्तीसगढ़ब्रेकिंग न्यूज़शक्ति

*शक्ति निवासी प्रार्थी सौरभ अग्रवाल की रिपोर्ट पर हुई कार्यवाही.. *****रायकोना के शिवा साहू और चार साथियों पर दो करोड रुपए की धोखाधड़ी मामले में एफआईआर दर्ज…. ***धारा 406, 409, 420, 34 के तहत अपराध दर्ज, सक्ती निवासी सौरभ अग्रवाल एवं साथियों ने की थी शिकायत, 30 प्रतिशत ब्याज का लालच देकर ठगी का आरोप, करीब 500 करोड़ रुपए का खेल होने का अंदेशा…

***शक्ति निवासी प्रार्थी सौरभ अग्रवाल की रिपोर्ट पर हुई कार्यवाही..

*****रायकोना के शिवा साहू और चार साथियों पर दो करोड रुपए की धोखाधड़ी मामले में एफआईआर दर्ज….

***धारा 406, 409, 420, 34 के तहत अपराध दर्ज, सक्ती निवासी सौरभ अग्रवाल एवं साथियों ने की थी शिकायत, 30 प्रतिशत ब्याज का लालच देकर ठगी का आरोप, करीब 500 करोड़ रुपए का खेल होने का अंदेशा…

सकती / सरसीवा/ सारंगढ़ । आखिरकार रायकोना के राजा बने शिवा साहू के साम्राज्य का पतन प्रारंभ हो गया है। सैकड़ों लोगों से मोटी रकम लेकर आठ महीने में दोगुना करने और 30 प्रश ब्याज देने के मामले में पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है। बीते दिनों जब प्रार्थी इसकी शिकायत करने थाने गए थे तो भीड़ ने थाने को घेर लिया था। उन्हीं पीड़ितों की शिकायत पर पुलिस ने धोखाधड़ी का अपराध दर्ज कर लिया है। सारंगढ़-बिलाईगढ़ जिला के सरसीवां थानांतर्गत रायकोना गांव के शिवा साहू, मिथलेश साहू, झगेश साहू, सूर्यकांत साहू और वृन्दा साहू के द्वारा 30 प्रतिशत ब्याज देने और 8 माह पूर्ण होने पर दुगुना रकम देने का लालच देकर 2 करोड़ रुपए के ठगी करने के शिकायत पर सरसीवां पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ भादवि 406, 409, 420, 34 के तहत अपराध दर्ज कर लिया है। यह शिकायत शक्ति निवासी प्रार्थी सौरभ अग्रवाल ने 22 फरवरी को की थी। इस मामले में शनिवार को प्रदेश के वित्त मंत्री ओपी चौधरी ने कार्रवाई होने की बात कही थी। सक्ती निवासी सौरभ अग्रवाल ने सरसीवां थाना में शिकायत दर्ज कराई थी कि शिवा साहू निवासी रायकोना एवं उसके साथियों द्वारा शेयर मार्केट क्रिप्टो करेंसी में पैसा लगाने पर प्रतिमाह 30 प्रतिशत अतिरिक्त राशि देने और आठ माह में दोगुना रकम देने का लालच देकर दो करोड़ रुपए लिए थे। वह अपने ट्रांसपोर्टिंग के काम से जनवरी 2024 में जैजेपुर आया था, जहां जैजेपुर निवासी वृन्दा साहू से मुलाकात हुई थी। क उसने बताया कि ग्राम रायकोना निवासी शिवा साहू, शेयर मार्केट क्रिप्टो करेंसी में पैसा लगाता है और 30 प्रतिशत अतिरिक्त राशि के साथ – आठ माह में दोगुना रकम देता है। 10 जनवरी को सौरभ और वृन्दा साहू कुछ अन्य साथियों के साथ शिवा साहू के घर गए थे। जहां काफी लोग उसके ऑफिस में पैसा जमा कर रहे थे। शिवा साहू और उसके 1 साथियों ने बताया कि नकद रकम जमा करने पर • 30 प्रश अतिरिक्त राशि प्रतिमाह मिलेगा। आठ माह पूर्ण होने पर रकम दोगुनी हो जाएगी। कुछ – दिन बाद लालच में आकर 16 जनवरी को – शिवा साहू के मोबाईल नंबर पर वाट्सऐप चैट करने किया। अगले दिन सौरभ के साथ खरसिया के तरुण साहू, सरिया के दीपक अग्रवाल, कंचनपुर के कमल प्रधान, जैजेपुर से माइकल साहू एवं विश्वजीत खांडेकर सरसींवा जैजेपुर रोड में आए। सौरभ ने 82 लाख, तरुण ने 26 लाख रुपए, सरिया के दीपक अग्रवाल ने 32 लाख रुपए, कंचनपुर के कमल प्रधान ने 40 लाख रुपए एवं विश्वजीत खांडेकर ने 20 लाख रुपए कुल दो करोड़ रुपए को शिवा साहू के आदमी झगेश साहू को सरसींवा के हसौद रोड में दिए थे। लंबे समय से रायकोना गांव के शिवा साहू की चर्चा है। बताया जा रहा है कि उसके गांव नें लोग शिवा के इशारों पर चलते हैं। गांव में कोई अनजान व्यक्ति आसानी से नहीं घुस पाता। शेयर बाजार और क्रिप्टो करेंसी में पैसा लगाने के लिए एजेंसी पंजीकृत होनी चाहिए। नकदी में रुपए लेना भी अपराध है। इसके लिए भी अनुमति की जरूरत होती है। 30 फीसदी ब्याज और आठ माह में राशि दोगुना करने का लालच देकर मोटी रकम जमा करवा ली है। यह रकम कहां किसके नाम पर निवेश की गई। उसका कारोबार सारंगढ़-बिलाईगढ़ जिला के साथ-साथ सक्ती, रायपुर, महासमुंद, बलौदाबाजार और रायगढ़ जिले में फैला है। रुपए जमा करने के लिए उसने एजेंट रखे थे।

एक आरोपी वृन्दा साहू गिरफ्तार….

एसपी पुष्कर शर्मा ने इसमें तत्काल कार्रवाई करने का निर्देश दिया था। पुलिस ने एफआईआर दर्ज करने के के बाद आरोपी वृन्दा साहू पिता स्व. सीदुराम साहू उम्र 37 वर्ष निवासी ने जैजेपुर को पकड़कर पूछताछ की।
उसने जैजैपुर व आसपास के लोगों से धोखाधड़ी कर करीब चार करोड़ रुपए मुख्य आरोपी शिवा साहू के एक्सिस बैंक एवं आईडीएफसी बैंक खाता में जमा करने व कमीशन के तौर पर 30 प्रतिशत राशि प्राप्त करना स्वीकार किया। उसने कमीशन की रकम से हुंडई कार खरीदी। रकम ट्रांजेक्शन का हिसाब-किताब मोबाईल में दिखाया। आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर जेल दाखिल किया गया है। आरोपी से मोबाईल जब्त किया गया है। मुख्य आरोपी शिवा साहू सहित अन्य आरोपी फरार हैं।

वित्त मंत्री तक पहुंचा था मामला…

इस मामले की पूरी जानकारी वित्त मंत्री ओपी चौधरी तक भी पहुंची थी। रायकोना गांव में 30 प्रतिशत ब्याज पर करोड़ों रुपए जमा करने के मामले को विधि विपरीत बताते हुए ओपी चौधरी ने कार्रवाई का भरोसा दिया था। जिसके बाद महज 24 घंटे के अंदर ही प्रार्थी सौरभ अग्रवाल की शिकायत पर अपराध दर्ज किया गया है। जिस दिन प्रार्थी शिकायत करने सरसीवां थाने पहुंचे थे तो सैकड़ों लोगों ने थाने को लाठी- डंडों से लैस होकर घेर लिया था। पुलिस भी मामला नहीं संभाल पा रही थी। शिवा साहू को पूछताछ के लिए थाने बुलाया गया जिसके बाद हंगामा हुआ। पुलिस ने शिवा को छोड़ा तभी स्थिति नियंत्रित हुई थी ।

शिकार लाओ और कमीशन लो….

बताया जा रहा है कि शिवा ने कई लोगों को एजेंट बनाया था। कई व्यापारियों ने अपने भरोसेमंद लोगों के माध्यम से करोड़ों रुपए यहां जमा करवाए। ब्लैक मनी को दूसरे लोगों के जरिए इन्वेस्ट करवाया गया। जो भी मोटी आसामी लेकर आता उसको एक-दो प्रश कमीशन अलग से मिलता था। कमीशन की राशि तो तुरंत मिल जाती थी। यह काम पूरी तरह से अवैध है। इस मामले में मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत भी कार्रवाई होनी चाहिए। करीब 500 करोड़ का खेल हो सकता है।

न अतिरिक्त रकम मिली, न दोगुनी हुई राशि…

झगेश को रकम देते समय तरुण साहू, दीपक अग्रवाल, कमल प्रधान, माइकल साहू एवं विश्वजीत खांडेकर उपस्थित थे। रकम देने के डेढ़ माह बीत जाने के बाद भी कोई अतिरिक्त राशि नहीं दी गई। तब शिवा साहू को फोन के माध्यम से तथा सरसींवा जाकर अपना पैसा लेने की कोशिश की लेकिन उसने राशि नहीं दी। दो करोड़ रुपए वापस मांगने पर भी नहीं लौटा रहा है। 22 फरवरी को शिवा साहू अपने एजेंटों के साथ जैजेपुर स्थित अपने एजेंट बिंदा साहू के निवास पर बैठक किया और बोला था कि पैसा कुछ दिन में लौटा दूंगा। लेकिन अगले दिन इंकार कर दिया। सौरभ अग्रवाल की शिकायत पर सरसीवां थाने में रायकोना के शिवा साहू, मिथलेश साहू, झगेश साहू, सूर्यकांत साहू, बिंदा साहू के खिलाफ भादवि 406, 409, 420, 34 के तहत अपराध दर्ज किया गया है।

#

#

#

#

#

#

#

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button