छत्तीसगढ़शक्ति

आत्मानंद स्कूल सक्ती में मनाया गया “वीर बाल दिवस”, साहिबजादों के शौर्य, वीरता, त्याग और धर्मनिष्ठा को किया गया याद..

*आत्मानंद स्कूल सक्ती में मनाया गया “वीर बाल दिवस”, साहिबजादों के शौर्य, वीरता, त्याग और धर्मनिष्ठा को किया गया याद..

सक्ती l  जिला प्रशासन द्वारा सिख धर्म के दसवें गुरु गोविंद सिंह जी के पुत्रों साहिबजादो बाबा जोरावर सिंह व बाबा फतेह सिंह की शहादत की स्मृति में जिला स्तरीय वीर बाल दिवस कार्यक्रम का आयोजन स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ठ अंग्रेजी माध्यम विद्यालय सक्ती में किया गया। जहां मुख्य रूप से प्रभारी कलेक्टर सुश्री दिव्या अग्रवाल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक  एम.आर. आहिरे, जिला शिक्षा अधिकारी बी.एल. खरे, नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती सुषमा जायसवाल,  कृष्णकांत चंद्रा,  मेधाराम साहू,  रामवतार अग्रवाल,  डॉ. खिलावन साहू,  मांगेराम अग्रवाल, चितरंजय पटेल ,रामनरेश सहित अन्य जनप्रतिनिधि शामिल हुए। इस अवसर पर बाबा जोरावर सिंह व बाबा फतेहसिंह जी के जीवनी का चित्र के माध्यम से और विद्यार्थियों के द्वारा बनाए गये मॉडल का प्रदर्शनी लगाया गया,जिसे सभी अतिथियों द्वारा अवलोकन किया गया।साथ ही आत्मानंद विद्यालय के विद्यार्थियों ने साहिबजादे जोरावर सिंह और फतेह सिंह के जीवन चरित्र पर  नाटक के माध्यम से प्रस्तुतिकरण दिया। बच्चों की इस प्रस्तुतीकरण से उपस्थित जनों ने खूब सराहना की ।बता दे कि सन 1704 में आज ही के दिन तारीख 26 दिसंबर को सिख धर्म के दसवें  गुरु गोविंद सिंह के दो साहिबजादे जोरावर सिंह और फतेह सिंह को इस्लाम धर्म कबूल न करने पर 7 व 9 वर्ष से भी कम आयु के इन दोनों साहिबजादो को सरहिंद के नवाब वजीर खां ने दीवार में जिंदा चुनवा दिया था और माता गुजरी को किले की दीवार से गिराकर शहीद कर दिया गया था। इन अमर शहीदों के वीरता, त्याग व धर्मनिष्ठा को अमर रखने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हर साल 26 दिसंबर को वीर बाल दिवस मनाए जाने का ऐलान किया है। कार्यक्रम में स्कूल के छात्र छात्राओं द्वारा साहिबजादों के जीवन शैली का नाटक भी प्रस्तुत किया गया।

———————————————————————————-

#

#

#

#

#

#

#

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button